Mera Priya Pashu Essay in Hindi : मेरा प्रिय पशु पर निबंध

Mera Priya Pashu Essay in Hindi

यहाँ पर आपको Mera Priya Pashu Essay in Hindi में तीन निबंध दिए गए हैं जो कुत्ता, भैंस और बकरी पशु पर निबंध आसान भाषा में लिखे गए हैं जिसे आप आसानी से याद कर सकते हैं । मेरा प्रिय पशु कुत्ता पर निबंध 500 शब्दों में दिया गया है ।

1. मेरा प्रिय पशु कुत्ता (Dog) पर निबंध

प्रस्तावना:- मेरा प्रिय पशु कुत्ता है क्योंकि कुत्ता एक बफादार जानवर होता है । कुत्ता एक चौपाया पशु है जो विभिन्न रंगों काला, सफ़ेद, भूरा आदि में पाया जाता है । कुत्ता सर्वाहारी होता है जो मांस, रोटी, बिस्किट, दूध आदि जैसी चीजें खाता है । लेकिन इसका पसंदीदा भोजन मांस होता है । यह एक ऐसा जानवर है जो अन्य जानवरों की अपेक्षा मनुष्य से अधिक लगाव रखता है । कुत्ता दुनियाभर में हर जगह पाया जाता है । यह पशु एक दूसरे को देखकर बहुत जल्दी आपस में गुर्राने और लड़ने लगते हैं ।

कुत्ते का मनुष्य के प्रति व्यवहार

कुत्ता एक वफ़ादार जानवर है जो मनुष्य के साथ बहुत अच्छा व्यवहार रखता है । इसलिए कई लोग इसे पालते हैं और इसे अपने दोस्त की तरह समझते हैं । वैसे तो कुत्तों की सैकड़ों नश्लें पायी जाती हैं लेकिन यह आम तौर पर दो प्रकार के ही होते हैं । जैसे पालतू कुत्ते और जंगली कुत्ते । जंगली कुत्ते तो बहुत खतरनाक होते हैं यह जंगल में रहते हैं और दूसरे जानवरों का शिकार कर के अपना पेट भरते हैं । यह ज्यादातर काले और भूरे रंग के होते हैं ।

लेकिन पालतू कुत्ते आपको प्रायः लोगों के घरों में मिल जाते हैं । कुछ लोग कुत्तों को अपने घर की रखवाली करने के लिए पालते हैं । क्योंकि कुत्ता अजनबी लोगों को देखकर भौंकने लगता है और मालिक की आज्ञा के वगैर यह किसी अजनबी को घर में घुसने तक नहीं देता है । कुत्ता बहुत तेज आवाज़ से भौंकता है और बहुत शोर भी करता है ।

कुछ लोग कुत्तों को अपने शौक के लिए पालते हैं क्योंकि कुत्ता एक ऐसा पशु है जो अपने मालिक से बहुत प्रेम करता है । और अपने मालिक के इशारे पर कई काम भी कर सकता है । आजकल कुत्ता पालने का लोगों में शौक बड़ता जा रहा है क्योंकि कुत्ते का व्यवहार मनुष्य के साथ बहुत प्रिय होता है ।

कुत्ते की देखभाल करना

जैसा कि हम जानते हैं कि कुता हमारे लिए बहुत उपयोगी पशु है । कुत्ते की देखभाल करना और उसके अच्छे स्वस्थ्य का ख्याल रखना हमारा कर्तव्य है । प्रत्येक पशु जिसको लोग अपने शौक या अपने काम के लिए पालते हैं वो ज्यादातर अपने मालिक पर ही निर्भर रहता है । इसलिए उन्हें चाहिए कि अपने पशु की पूरी देखभाल करें ।

कुत्ता एक ऐसा जानवर है जो टहलना पसंद करता है इसलिए इसे रोजाना टहलाना चाहिए । घर से बाहर घुमाने ले जाएँ और इसके खाने पीने का विशेष ध्यान रखना चाहिए । कुत्ते के रहने और उसके सोने की जगह बेहतर और साफ़ होना चाहिए । मौसम के हिसाब से कुत्ते के रहने की जगह को अनुकूल बनाना चाहिए । समय समय पर अपने कुत्ते को पशु चिकित्सक को दिखाते रहना चाहिए । अगर जरूरत हो तो इसे टीकाकरण भी करवाना चाहिए ।

उपसंहार

हम कुत्ते को पालते हैं और उसका प्यारा सा नाम भी रख देते हैं और उसके प्रति बहुत प्रेम भी करते हैं । लेकिन कुत्ता एक जानवर है तो इस बात का खास ख्याल रखना चाहिए कि वो किसी के काट न पाए और इससे किसी मनुष्य को बेवजह कोई परेशानी न हो । कुत्ते को मारना या उसे छेड़ना खतरनाक हो सकता है इसलिए इससे बचे ।

2. मेरा प्रिय पशु भैंस पर निबंध

भैंस मेरी सबसे प्रिय पशु है क्योंकि यह हमें पीने के लिए दूध देती है । यह एक सीधा जानवर है जो प्रायः काले रंग की होती है इसके अलावा कुछ भैंसे भूरे रंग की होती हैं । इसका वैज्ञानिक नाम “Bubalus bubalis” है। भैंस एक चौपाया जानवर है जो शाकाहारी होती है । यह हरा चारा व भूसा आदि खाती है ।

भारत में भैंस की कई प्रजाति पाई जाती हैं जो अलग अलग प्रदेशों में होती हैं । मुर्रा भैंस, जाफराबादी भैंस, और मीनाचेरी भैंस जैसी प्रजातियाँ अधिक दूध के लिए प्रसिद्ध हैं। लेकिन इनका चयन आपके उद्देश्यों और क्षेत्रिय आवश्यकताओं पर भी निर्भर करता है।

यह भी पढ़ें :-

मेरा प्रिय पक्षी मोर पर निबंध

भैंस किसानो के लिए एक आय का मुख्य साधन है । एक अच्छी भैंस एक दिन में लगभग 10 लीटर दूध देती है । यह दूध बेचकर किसान इससे अपना खर्चा पूरा कर लेता है । इसके अलावा कुछ लोग इसको बड़े पैमाने पर भी व्यापार करते हैं । जिससे लाखों रुपये कमाते हैं ।

भैंसों की बिक्री के लिए कुछ विशेष जगहों पर समय समय पर बाजार लगते हैं । इन बाजारों को नाकाशा कहा जाता है । जहाँ पर विभिन्न प्रकार की प्रजाति की भैंस बिक्री हेतु उपलब्ध होती हैं और व्यापारी लोग इनका लेन देन करते हैं ।

3. मेरा प्रिय पशु बकरी पर निबंध

Mera Priya Pashu Essay in Hindi – मेरा प्रिय पशु बकरी है । बकरी की चार टांगे, दो नुकीले सींग और एक छोटी पूछ होती है । इसके दो थन होते हैं यह एक से दो लीटर तक दूध दे देती हैं । बकरी का दूध स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है । बकरी बहुत सीधा जानवर है जो शाकाहारी होती है । यह हरा चारा और अनाज खाना पसंद करती है ।

बकरी एक पालतू जानवर है जो जंगल में घास और हरे पत्ते आदि चरने की शौक़ीन होती है । बकरी एक साल में एक बार में लगभग दो बच्चे देती है । इसके बच्चे बहुत सुन्दर होते हैं । जो विभिन्न रंग के होते हैं । यह जानवर गाँव व शहर दोनों जगह पर पाला जाता है ।

बकरी एक तरह से मनुष्य के लिए आय का साधन है इससे हमें दूध, मांस और चमड़ा आदि प्राप्त होता है । इस प्रकार, बकरी एक महत्वपूर्ण और सामाजिक जीवन से जुड़ा हुआ जानवर है जिसका पालन-पोषण आसान है और जो विभिन्न उत्पादों के लिए उपयोगी है।

दोस्तों के साथ शेयर करें

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *