Corn flour in Hindi : कॉर्न फ्लोर किसे कहते हैं ?

Corn Flour in Hindi

दोस्तों Corn flour in Hindi में आज हम बात करेंगे कि कॉर्न फ्लोर किसे कहते हैं ? Corn Flour जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि यह मक्का का आटा ही होगा. लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है. बेसिकली यह भी मक्का को पीस कर ही बनाया जाता है लेकिन फिर भी इसको मक्का का आटा नहीं कहेंगे क्यूंकि इसके लिए एक अलग प्रोसेस का इस्तेमाल होता है.

तो इस आर्टिकल में हम जानेगे कि कॉर्न फ्लोर (corn flour) और कॉर्नमील फ्लोर (cornmeal flour) और अरारोट यह सब क्या हैं? और इनके फायदे व उपयोग क्या क्या हैं ?

Corn flour meaning in Hindi

Corn flour मक्का का आटा नही बल्कि कॉर्न स्टार्च (Corn starch) होता है. और मक्का के आटे को कॉर्नमील फ्लोर (Cornmeal flour) कहते हैं. लेकिन यह दोनों चीजे आखिर बनती मक्का से ही हैं. यहाँ पर हम आपको इन दोनों के बारे में बताएँगे.

जिस तरह गेंहूँ, बाजरा, ज्वार आदि अनाज हैं उसी तरह मक्का भी एक आनाज है. इसकी खेती एक वर्ष में दो बार हो सकती है. इसके बोने और काटने का समय अलग अलग जलवायु के कारण हर क्षेत्र में अलग होता है. मार्किट में मक्का की विभिन्न प्रकार की प्रजातियाँ उपलब्ध हैं.

मक्का, जिसे कुछ लोग मकई भी कहते है. यह हमारे लिए बहुत उपयोगी है. क्यूंकि मक्का से सबसे पहले हमें भुट्टे (Maize) खाने को मिलते हैं.

भूट्टे अक्सर बरसात के मौसम में मिलते हैं. उसके बाद आपने कभी न कभी किसी सिनेमा हाल में कोई फिल्म देखते समय पॉपकॉर्न ज़रूर खाय होंगे. जो बेसिकली भुनी हुई मक्का ही होती है.

वैसे बरसात के मौसम में भुट्टे खाना और फिल्म देखते समय पॉपकॉर्न खाने का अपना अलग ही मजा है. अब बात करते हैं कि कॉर्न फ्लोर और मक्का का आटा, इन दोनों में क्या अंतर होता है.

कॉर्न फ्लोर और कॉर्नमील फ्लोर में अंतर

Corn flour in hindi, मक्का का आटा आप सभी जानते होंगे. जिस तरह गेंहू का आटा बनाने के लिए गेंहूँ को पहले सुखाना पड़ता है और बाद में उसको आटा पीसने की चक्की से पीस लिया जाता है.

लेकिन यही सूखे हुए गेंहूँ अगर पानी में भिगो कर फुला दिए जाएँ और उनका छिलका हटा दिया जाये और फिर से सुखा कर महीन बारीक पीस लिए जाएँ तो फिर हम इसको गेंहूँ का आटा नहीं कहते; बल्कि यह मैदा होती है.

ठीक इसी प्रकार मक्का के बीजों के आंतरिक भाग को चक्की से बारीक पीस कर प्राप्त होता है कॉर्न फ्लोर यानि के कॉर्न स्ट्राच. यह सफ़ेद रंग का होता है, यह पाउडर की तरह होता है.

जबकि मक्का का आटा सीधे सीधे मक्का के बीजों को पीस कर बनाया जाता है. मकई का आटा थोडा दरदरा या बारीक भी हो सकता है. यह आटा हल्का पीले रंग का होता है. कुछ लोग अरारोट को ही कॉर्न फ्लोर कहते हैं लेकिन हम यहाँ आपको बता दें कि अरारोट अलग होता है.

मक्का के आटे की रोटी बनाई जाती है. जो बहुत स्वादिष्ट होती है. भारत के कुछ हिस्सों में तो मक्के की रोटी और चने का साग बहुत मशहूर हैं. कई जगह लोग इन चीजो को बड़े चाव से खाते हैं.

मक्का के आटे की रोटी

Corn flour in hindi में अब जानते हैं मक्का की रोटी के बारे में. मकई के आटे की रोटी, गेंहूँ के आटे की रोटी से मोटी और थोडा टाइट होती है. यह ब्राउन कलर की होती है. इसे बनाने के लिए सबसे पहले मक्का के आटे में पानी डालकर उसको गूंध लेते हैं.

लेकिन याद रहे एक साथ ज्यादा आटा नहीं गूंधते है. फिर रोटी बना कर गर्म तवे पर डाल देते हैं. कुछ लोग तवे पर पहले घी या सरसों का तेल भी लगा लेते हैं.

जिससे रोटी तवे पर चिपकती नहीं है. और आसानी से सिक कर छुट जाती है. रोटी को तवे से हटाने के बाद उसको आग पर सेकते है. जब तक रोटी का रंग ब्रॉन न हो जाये तब तक सेकते हैं.

कॉर्न फ्लोर के फायदे

Corn flour in hindi में अब बात करते हैं की कॉर्न फ्लोर या कॉर्न स्टार्च हमारे लिए किस प्रकार फायदेमंद है. corn starch हमारे लिए बहुत उपयोगी है.

इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन्स, मिनिरल्स, कार्बोहाईड्रेड, प्रोटीन आदि पोषक तत्व पाए जाते है जो हमारे शरीर के लिए लाभदायक होते हैं.

कॉर्न फ्लोर को अपने खाने में शामिल करने के निम्नलिखित फायदे है-

  • इससे शरीर को सही मात्रा में विटामिन बी मिलता है, जिससे हाइपरटेंशन की समस्या दूर हो सकती है. ये ब्लड प्रेशर नियंत्रित रखने में भी काफी फायदेमंद माना जाता है.
  • इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर भी होता है, जिससे शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर सही रहता है. ये कब्ज़ की परेशानी को दूर करने में सहायक माना जाता है.
  • मक्का अनाज में विटामिन और एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है जो आंखों के स्वास्थ्य के लिए अच्छे माने जाते हैं.

कॉर्न फ्लोर के उपयोग

  • कॉर्न फ्लोर को सफ़ेद रंग के पाउडर के रूप में पाते हैं; जो कई तरह से हमारे किचेन में शामिल होता है.
  • इसका उपयोग प्रायः फिलर, बाइन्डर के रूप में होता है. कोफ्ता, गुलाब जामुन जैसी रेसिपी बनाने में इसका उपयोग किया जाता है.
  • तरल पदार्थो को जैसे दूध, सूप आदि को गाढ़ा करने में कॉर्न फ्लोर का इस्तेमाल होता है.
  • आलू टिक्की, केला टिक्की, पोहा आदि क्रिस्पी बनाने में भी इसका उपयोग किया जाता है.
  • रस मलाई, छेना, हल्वा आदि जैसी रेसिपी बनाने में कॉर्न फ्लोर का सेवन किया जाता है.
दोस्तों के साथ शेयर करें
Shanu khan
Shanu khan

Hi dear Reader !
I’m Shanu Ali Khan from Uttar Pradesh; my qualification is postgraduate. I am founder of hindieducation[dot]in site. I’m freelancer as well as Hindi writer.

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *