Anushasan Par Nibandh in Hindi : अनुशासन पर निबंध लिखिए

Anushasan Par Nibandh in Hindi

यहाँ आपको Anushasan par nibandh in hindi में छोटे व बड़े सभी तरह के निबंध मिलेंगे जो हमने अनुशासन पर निबंध 100 शब्दों में, 150 शब्दों में 200 शब्दों में, 300 शब्दों में और उसके बाद एक बड़ा निबंध जो 500 शब्दों में लिखा हैं।

अनुशासन पर निबंध 100 शब्द

Anushasan par nibandh अनुशासन हमारे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण एक हिस्सा है। अनुशासन कुछ नियमों और विनियमों का पालन करते हुए जीवन जीने की क्रिया है। इसके बिना कोई भी सुखी जीवन नहीं जी सकता।

अनुशासन वो सब कुछ है जो हम सही समय पर सही तरीके से करते हैं। यह हमें सही रास्ते पर ले जाता है। हर व्यक्ति अपनी जिंदगी में कई तरह के अनुशासन का पालन करते हैं।

जैसे हम सुबह जल्दी उठते हैं, एक गिलास पानी पीते हैं, तरोताजा होने के लिए वाशरूम जाते हैं, अपने दाँत ब्रश करते हैं, स्नान करते हैं, नाश्ता करते हैं, सही समय पर यूनिफॉर्म में स्कूल जाते हैं, आदि सभी अनुशासन हैं।

अनुशासन पर निबंध 150 शब्द

Anushasan par nibandh- अनुशासन एक ऐसी कार्यप्रणाली जिसमे रह कर हम अपने जीवन को बेहतर और सम्मानदायक बनाते हैं। यह हमारे जीवन में कुछ बेहतर नियम का पालन करना सिखाता है।

अनुशासन का पालन करने की आदत हमें बचपन से ही सिखाई जाती है जिसे हम फिर जीवन भर नहीं भूलते हैं।

सुबह सोकर उठने के बाद से लेकर शाम तक हम जितने भी छोटे मोटे काम करते हैं उनका कुछ नियम और समय होता है। तो अनुशासन के तहत हमें वो काम उसी नियम के साथ करना होता है।

जिस तरह समय पे विद्यालय जाना और अपने बड़ों का सम्मान करना या फिर कब किसके सामने क्या बोलना है और क्या नहीं बोलना है ये सब कार्य अनुशासन में रह कर ही किये जाते हैं।

अनुशासन जीवन को और बेहतर बनाने की एक कला है जो हमें अपने बड़ों से सीखने को मिलती है। जिसका हम अपने जीवन में पालन करते हैं।

अनुशासन पर निबंध 200 शब्द

Essay on discipline in hindi, अनुशासन लोगों के नियमों या व्यवहार संहिता का पालन करने के लिए प्रशिक्षित करने के अभ्यास के रूप में परिभाषित किया गया है, अवज्ञा को ठीक करने के लिए दंड का उपयोग करना। यदि कोई संस्था चाहे वह परिवार हो, स्कूल हो, कॉलेज हो या कार्यस्थल हो, ठीक से काम करना चाहता है तो उसे  इसके भीतर अनुशासन बनाए रखना जरूरी है।

उदाहरण के लिए, एक परिवार में अनुशासन का अर्थ है कि परिवार के सदस्य एक निश्चित पैटर्न का पालन करते हैं जो वे करते हैं जैसे समय पर बिस्तर पर जाना, समय पर भोजन करना आदि जो जीवन में एक विशिष्ट दिनचर्या की नकल करता है।

इस प्रकार, यह समझा जाता है कि पृथ्वी पर किसी भी संस्थान के सफल संचालन के लिए अनुशासन का रखरखाव अनिवार्य है। लेकिन कड़वा सच रहता है; प्रत्येक व्यक्ति द्वारा समान स्तर पर अनुशासन बनाए नहीं रखा जाता है।

किसी व्यक्ति के जीवन में अनुशासन की उपस्थिति अभूतपूर्व सफलता की ओर ले जाती है और अनुशासन की अनुपस्थिति के मामले में इसके विपरीत है। हमें हमेशा अनुशासन का पालन करना चाहिए और अपने जीवन को ख़ुशी से बिताना चाहिए।

अनुशासन पर निबंध हिंदी में 300 शब्द

प्रस्तावना:- Anushasan par nibandh in hindi अनुशासन दो शब्दों अनु और शासन से मिलकर बना है। इसका मतलब नियम का पालन करना होता है। यह हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण है, यह हमें नियमों का पालन करना सिखाता है।

अनुसंधान ही हमारी सफलता की सीढ़ी है, जिसकी सहायता से हम किसी भी मंजिल को प्राप्त कर सकते हैं। अनुशासन में सारा काम प्रकृति भी  करती है, सूरज समय पर उगता है और समय पर अस्त होता है।

अनुशासन का महत्व

विद्यार्थी जीवन में अनुशासन का बहुत महत्व है क्योंकि यह जीवन का वह पड़ाव है जहां हम जो कुछ भी सीखते हैं वो हमेशा हमारे साथ होता है। अनुशासन के अंतर्गत बड़ों का सम्मान, छोटों के लिए प्रेम, समय निश्चित, नियमों का पालन और शिक्षकों का पालन आदि होता है।

अनुशासन प्रिय लोगों को बहुत पसंद आता है। अनुशासन व्यक्ति को चरित्र और कौशल बनने में मदद करता है।

सैन्य जीवन में अनुशासन देखा जाता है जिसके कारण वे कठिन परिस्थितियों में जीने में सक्षम होते हैं। खेलों में अनुशासन बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अनुशासित खिलाड़ी ही खेल जीत सकता है।

अनुशासन बहुत से लोग जन्म से ही पैदा होते हैं और कुछ को जन्म लेना पड़ता है। अनुशासन दो प्रकार का होता है-

पहला, जो किसी पर बलपूर्वक थोपा जाता है। जो लोगों पर थोपा जाता है, उसे बाह्य अनुशासन कहते हैं। दूसरा वो है जो लोगों में पहले से मौजूद है जो आंतरिक अनुशासन कहलाता है।

अनुशासित लोगों को हर क्षेत्र में प्राथमिकता दी जाती है। जो व्यक्ति समय की कद्र नहीं करता, संसार उसकी कद्र नहीं करता।

उपसंहार

आजकल छात्र बहुत हीन होते जा रहे हैं, वे समय के महत्व को भूल रहे हैं और बड़ों का सम्मान नही कर रहे हैं। अनुशासन की हीनता को उच्च शिक्षा द्वारा नियंत्रित किया जा सकता है।

Anushasan par nibandh 500 शब्दों में

प्रस्तावना :- Anushasan par nibandh in hindi अनुशासन हमारे जीवन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसके बिना हमारा जीवन सुचारू रूप से नहीं चल सकता, खासकर आज के आधुनिक समय में अनुशासन बहुत जरूरी है। क्योंकि इस व्यस्त समय में अगर हम अनुशासन की दिनचर्या का पालन नहीं करेंगे तो हमारा जीवन व्यस्त हो जाएगा।

जीवन में अनुशासन का महत्व

अनुशासन कार्यों को व्यवस्थित और संयमित तरीके से करने की एक विधि है, यदि हम नियमित रूप से अनुशासित दिनचर्या का पालन करें तो हम अपने जीवन स्तर को काफी अच्छा बना सकते हैं।

यह हमें अपने कार्यों को और भी अच्छी तरह से करने में मदद करता है। शोध से पता चला है कि जो लोग अपना जीवन अनुशासित तरीके से जीते हैं। वे व्यस्त कार्यक्रम का पालन करने वालों की तुलना में अपने समय और ऊर्जा का बेहतर उपयोग करने में सक्षम हैं।

यही कारण है कि जीवन में अनुशासन का पालन करने वालों को अनुशासनहीन व्यक्तियों से अधिक सम्मान और सफलता प्राप्त होती है। और उनकी पहचान एक बेहतर इंसान के रूप में की जाती है।

वास्तव में अनुशासन का अर्थ यह नहीं है कि हम दूसरों के कार्यों का अनुसरण करके अपने जीवन में अनुशासन लाने का प्रयास करें, बल्कि हमें अपने जीवन में आत्म-अनुशासन का पालन करना चाहिए क्योंकि अनुशासन ही सर्वोत्तम गुण है।

अनुशासन के लाभ और इसकी आवश्यकता

जीवन में अनुशासन अपनाने से अनेक लाभ मिलते हैं। अनुशासित व्यक्ति जीवन के हर क्षेत्र में सम्मान और सफलता अर्जित करते हैं।

सैन्य और रक्षा और अनुसंधान संगठनों में जीवन और कार्य में अनुशासन सर्वोपरि हो गया है, क्योंकि इन क्षेत्रों में एक सेकंड या मिनट की देरी या एक छोटी सी चूक के कारण बहुत बड़े नकारात्मक प्रभाव देखने को मिल सकते हैं।

यही कारण है कि इन महत्वपूर्ण क्षेत्रों में अनुशासन को इतना महत्व दिया जाता है और अधिकतम कार्यों में इसका पूरी तरह से पालन किया जाता है। जो उन्हें सफलता की ओर ले जाता है।

इसके साथ ही अनुशासन छात्रों के लिए सफलता का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है, यदि कोई छात्र अनुशासित दिनचर्या का पालन करके अपनी पढ़ाई करता है, तो उसे सफलता अवश्य मिलती है। यही कारण है कि विद्यार्थी जीवन में अनुशासन को ही सफलता का आधार माना गया है।

अनुशासन न केवल छात्र जीवन में बल्कि करियर और घरेलू जीवन में भी बहुत महत्वपूर्ण है, जो लोग अपने जीवन में अनुशासन अपनाते हैं वे कई परेशानियों से बच जाते हैं।

इसके साथ ही अनुशासन से जीवन जीने वालों को अनुशासित लोगों की तुलना में जीवन में कई लाभ मिलते हैं। एक तरफ जहां यह छात्रों के भविष्य को सुनहरा बनाने का काम करती है वहीं दूसरी तरफ नौकरीपेशा लोगों के लिए भी तरक्की के रास्ते खोलती है।

निष्कर्ष

हम कह सकते हैं कि अनुशासन जीवन में सफलता की कुंजी है और जो व्यक्ति इसे अपने जीवन में अपनाता है उसे अपने जीवन में सफलता अवश्य ही प्राप्त करनी चाहिए।

इसलिए हमें अनुशासन को अपनाना चाहिए और हमेशा अच्छे नियमों के साथ अपना जीवन व्यतीत करना चाहिए। जिससे हमारा जीवन एक बेहतर और खुशहाल जीवन होगा।

दोस्तों के साथ शेयर करें
Shanu khan
Shanu khan

Hi dear Reader !
I’m Shanu Ali Khan from Uttar Pradesh; my qualification is postgraduate. I am founder of hindieducation[dot]in site. I’m freelancer as well as Hindi writer.

One comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *