Rashtriya ekta par nibandh | राष्ट्रीय एकता पर निबंध 100 to 500 words

Rashtriya ekta par nibandh

Rashtriya ekta par nibandh- राष्ट्रीय एकता पर निबंध में हमने यहाँ पर आपके लिए छोटे व बड़े दोनों तरह के निबंध लिखे हैं. जिसमे आपको राष्ट्रीय एकता पर निबंध 100 शब्दों में, 300 शब्दों में और बड़ा निबंध आपको 500 शब्दों में आसान भाषा में मिलेगा. इसके अलावा राष्ट्रीय एकता पर निबंध में 10 लाइन भी लिखी गई हैं.

राष्ट्रीय एकता पर निबंध 100 शब्द

किसी भी देश की एकता ही उस देश की शक्ति कहलाती है. हमारा भारत देश भी अनेकता में एकता की मिसाल है. क्यूंकि यहाँ पर सभी धर्मो व जाति के लोग आपस में प्रेम से रहते हैं.

राष्ट्रीय एकता का देश में होना बहुत जरूरी है. और यह चीजें किसी भी देश में तभी मुमकिन है जब उस देश की शिक्षा दर अच्छी हो तथा देशवासी लालची व स्वार्थी न हो.

राष्ट्रीय एकता देश को महान बनाती है. अगर देश में एकता न हो तो किसी भी देश को बर्बाद होने में समय नहीं लगता है. जिसमे कहीं न कहीं सभी का नुकसान होता है.

राष्ट्रीय एकता पर निबंध 300 शब्द

Rashtriya ekta par nibandh– राष्ट्रीय एकता, सभी देशवासियों का आपस में प्रेम व निस्वार्थ के साथ देश में रहना व किसी भी तरह का आपस में भेदभाव न करते हुए देश के प्रति प्रेम करना ही राष्ट्रीय एकता कहलाता है.

किसी भी देश को शक्तिशाली व विकासशील होने के लिए उस देश की राष्ट्रीय एकता का होना बहुत जरूरी है. यह देश को अन्दर से मजबूत बनाती है और देश के सभी लोग खुशहाल रहते हैं.

हमारे भारत देश में सभी प्रकार के लोग निवास करते हैं. जिनके विभिन्न प्रकार के कार्य, धर्म, जाति, भाषा आदि हैं लेकिन फिर भी सभी लोग आपस में प्रेम से रहते हैं.

भारत के सभी देशवासी अपने भारत देश से प्रेम करते हैं और अपने राष्ट्र के प्रति सम्मान रखते हैं. जो राष्ट्रीय एकता को बनाए रखने में मदद करता है. वास्तव में मेरा भारत महान है.

राष्ट्रीय एकता को बनाए रखना प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी होती है. राष्ट्रीय एकता किसी एक के फायदे के लिए नहीं है बल्कि पूरे देश के भले के लिए होती है.

देश के प्रत्येक व्यक्ति को एक दूसरे का साथ देना चाहिए. किसी के बारे में बुरा सोचना भी नहीं चाहिए. आपस में एक दुसरे का सम्मान करना चाहिए.

भारत का संविधान कहता है कि प्रत्येक व्यक्ति का एक समान अधिकार है. कोई बड़ा छोटा नहीं होता, किसी में कोई भेदभाव नहीं होता है.

तो हम कौन होते हैं किसी को बुरा भला कहने बाले. हमें सबको एक समान समझना चाहिए. सबकी इज्जत करना चाहिए और एक दूसरे से अच्छी अच्छी आदते सीखते रहना चाहिए.

राष्ट्रीय एकता के लिए हमें एक कदम आगे आना चाहिए और देश में हो रही कुछ गलत गतिविधियों को रोकना चाहिए.

कुछ लोग समाज में ऐसे भी हैं जो धर्म जाति के नाम पर अपने मन में गलत विचार रखते हैं. उन लोगों को अपने मन से यह गंदगी निकाल देनी चाहिए और अपने विचार में बदलाव लाना चाहिए.

राष्ट्रीय एकता पर 500 शब्द

प्रस्तावना:- Rashtriya ekta par nibandh, जिस तरह हमारा परिवार होता है जिसमे सभी अपने होते हैं ठीक उस प्रकार हमारा देश होता है जिसमे रहने बाले सभी देशवासी अपने होते है.

भारत देश एक विशाल देश होते हुए भी एक फैमली की तरह है जिसमे सभी अपने हैं. किसी के साथ धर्म जाति या रंग रूप का कोई भेदभाव नहीं है.

भारत में लगभग सभी धर्मो के लोग रहते है जैसे- हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई, जैन, पारसी आदि. यह सभी आपस में बड़े प्रेम और भाईचारे के साथ जीवन बिताते हैं. जो राष्ट्रीय एकता की पहचान है.

राष्ट्रीय एकता देश को महान बनाती है और देश तरक्की की तरफ बड़ता है जो एक अच्छी बात है. इसमें सभी लोग खुशहाल रहते हैं.

राष्ट्रीय एकता का महत्व

Rashtriya ekta par nibandh, राष्ट्र के विकासशील और शक्तिशाली होने के लिए राष्ट्रीय एकता का बहुत महत्व है. किसी भी देश की राष्ट्रीय एकता उस देश को मजबूत और शक्तिशाली बनाती है.

अगर देश में एकता नहीं होगी तो देश को बिखरने में समय नहीं लगेगा. ऐसे देश के दुश्मन देश भी उसे बहुत कमजोर समझते हैं.

जब कभी भी देश में आपसी भूट होती है तो दुश्मन देश इसका भरपूर फायदा उठाते है. जिससे पूरे देश को भारी नुकसान उठाना पड़ता है.

राष्ट्रीय एकता देश की वो शक्ति है जिसके सामने अच्छे अच्छे नहीं टिक पाते हैं. और देश मिलकर बड़ी से बड़ी शक्ति का मुकाबला करने में  सक्षम होता है.

जब भारत में अंग्रेजी शासन की हुकूमत थी तब पूरे देश ने मिलकर एक साथ अंग्रेजो का मुकाबला किया था. जिसकी वजह से अंग्रेजो को भारत छोड़कर भागना पडा.

अंग्रेज राष्ट्रीय एकता की वजह से कमजोर पड़ गए थे. उनकी सभी चालाकियाँ धीरे धीरे नाकाम होती गई. लेकिन भारत ने अपनी एकता नहीं टूटने दी और मिलकर उनका मुकाबला किया और विजय प्राप्त की.

राष्ट्रीय एकता के उपाय

(Rashtriya ekta par nibandh) राष्ट्रीय एकता को बनाये रखने के लिए हमें कुछ ऐसे उपाय करना चाहिए जिससे हमारे देश की राष्ट्रीय एकता बनी रहे.

राष्ट्रीय एकता को बनाये रखने के लिए सबसे बेहतर उपाय है कि देश में हमेशा शिक्षा की दर बडती रहना चाहिए. क्यूंकि अगर देश शिक्षित होगा तो उसको एकता की पावर पता होगी.

देश के प्रत्येक जिम्मेदार नागरिक को अपनी जिम्मेदारी का अहसास होना चाहिए और वह कमजोर और बिछड़े लोगों को अहसास दिलाएं कि वो अकेले और कमजोर नहीं है.

सब मिलकर एक दूसरे का सहयोग करे ताकि यह पता चले कि भारत देश एक परिवार है. इस देश में रहने वाले सभी लोग आपस में भाईचारे से रहें.

उपसंहार

Rashtriya ekta par nibandh, जब एक लकड़ी का बंधा हुआ बण्डल अगर हम तोडना चाहे तो यह बहुत मुश्किल होता है. जबकि उस बण्डल को खोलकर सारी लकड़ियों को अलग अलग एक एक करके हम बहुत आसानी से तोड़ सकते हैं.

ठीक इसी प्रकार जब तक हम देश में एक साथ मिलकर कदम से कदम मिलाकर खड़े हैं तब कोई भी देश हमारा कुछ नहीं कर सकता.

अगर हम आपस में ही बिखर गए तो दुश्मन को हमें तोड़ने में समय नहीं लगेगा. इसलिए हम हम साथ साथ हैं और हमारा देश अनेकता में एकता बाला देश है.

राष्ट्रीय एकता पर निबंध 10 lines

  1. राष्ट्रीय एकता हमारे देश को महान बनाती है.
  2. भारत एक विशाल देश है यहाँ सभी तरह के लोग आपस में मिलझुल कर रहते हैं जिनमे राष्ट्रीय एकता देखने को मिलती है.
  3. राष्ट्रीय एकता के कारण देश में विकास और मजबूती दिखाई देती है.
  4. भारत की राष्ट्रीय एकता भारत के राष्ट्रीय पर्व के मौके पर देखने को मिलती है.
  5. इस दिन भारत के सभी धर्मो के लोग आपस में एक साथ मिलकर जश्न मनाते हैं.
  6. राष्ट्रीय एकता किसी भी तरह के भेदभाव और ऊँच नीच को नहीं मानती है.
  7. लोगों के अपने अपने मतभेद हो सकते हैं लेकिन बात अगर राष्ट्रीय सुरक्षा की आती है तो पूरे देश में राष्ट्रीय एकता देखने को मिलती है.
  8. देश को मजबूत और विकाशील होने के लिए राष्ट्रीय एकता बहुत जरूरी है.
  9. जिस देश में राष्ट्रीय एकता नहीं होती है उसको बिखरने में समय नहीं लगता है.
  10. हमें चाहिए कि हमेशा अपने देश से प्रेम करे और आपस में एक दूसरे का सहयोग करते हुए देश को आगे बडाने की कोशिश करते रहें.
दोस्तों के साथ शेयर करें
Shanu khan
Shanu khan

Hi dear Reader !
I’m Shanu Ali Khan from Uttar Pradesh; my qualification is postgraduate. I am founder of hindieducation[dot]in site. I’m freelancer as well as Hindi writer.

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *